Book review

आदरणीय राम एच. सिंघल जी

फोटोग्राफी के प्रति आपके समर्पण भाव ने Own zerO को तैयार किया। इसमें समाहित 125 तस्वीरों को मैंने गौर से देखा…जितनी बार भी देखा… उतनी बार फिर से देखने की ख्वाहिश मन में उठती रही। यही कारण रहा कि विश्व फोटोग्राफी दिवस पर मुझे मिली इस किताब को मैं अब तक सैंकड़ों बार देख चुका हूं, वरना तो अमूमन इससे पहले कई सार्वजनिक कार्यक्रम के फोटो मैंने देखे हैं जिन्हें देखने में मुझे कभी समय नहीं लगा।

ऐसा पहली बार है आपकी फोटोग्राफी को देखने के बाद ये पता चला कि एक तस्वीर को हजारों शब्दों के जरिये भी बखान नहीं किया जा सकता…, जितनी बार देखोगे वह उतनी ही बार  आपको  नया दृष्टिकोण प्रदान करती है। आपकी फोटोग्राफी हमारे आसपास घट रही घटनाओं, प्रकृति, पेड़-पौधे, पक्षी, बाग-बगीचे, सड़कें और यहां तक कि पार्किंग में खड़ी कार तक में विषय ढूंढ लेती है जो आपकी व्यापक सोच का उदाहरण भी है।

पुस्तक में 64 नंबर की फोटो में दो कारों के बीच में जिस तरह आपने अनुभव को दर्शाया है उससे आप एक मेंटर की भूमिका भी निभा जाते हो। यहां स्लोगन में तस्वीर देखने वाले को मार्गदर्शन का काम भी आपने किया है। “हमारा शरीर एक कार की तरह है और हम खुद एक ड्राइवर हैं, यदि हमें यात्रा को आसान बनाना है तो कार को मेंटेन रखना होगा”… ऐसे स्लोगन हर तस्वीर को शब्द प्रदान कर रहे हैं… जो एक फोटो पत्रकार की सोच का भी प्रदर्शन है।

इसके लिए आपका आभार और आपके फोटोग्राफी मेंटर महेश स्वामी जी को भी धन्यवाद, जिन्होंने आपको प्रकृति की मौन भाषा को समझाया और कैमरे के जरिये बयां करने के लिए प्रोत्साहित किया।

धन्यवाद
मनीष कुमार शर्मा वरिष्ठ पत्रकार  31 August 2021

Kiss God

When no one is looking
and I want to kiss God,
I just lift my own hand to my mouth.

― شمس الدین محمد حافظ / 
Shams-al-Din Mohammad Hafez, 
(1325 – 1389 )

Love All.

compiled : ram H singhal

for

Fragrant Breeze

( Monday poetry Blog )

विरासत में बूँद

BLOG ON TRAVEL & ADVOCACY- Untold Stories on Performed India

नवीना जफ़ा

‘काल के गाल पर आंसू की एक बूंद’, कवि रवींद्रनाथ टैगोर– फोटो क्रेडिट – रघु राय

इस सप्‍ताह की भारत यात्रा की कहानी पानी के एक क़तरे ‘बूँद’ के मूल भाव के बारे में है। ‘काल के गाल पर आंसू की एक बूंद’, कवि रवींद्रनाथ टैगोर ने ताजमहल के बारे में कहा था।  जब हम भारत में विभिन्‍न स्‍थानों की यात्रा करते हैं तो हमें पता चलता है कि ‘बूँद’ जैसे साधारण दिखने वाले अनेक प्रतीक हमारी धरोहर को कितना पेचीदा स्‍वरूप प्रदान कर देते हैं। ये प्रतीक हर धर्म में पाए जाते हैं और अलग-अलग संदर्भों में इनका अर्थ भी बदल जाता है। कलाकार अपनी कल्‍पना से उस एक प्रतीक में भाव और अर्थों की तमाम परतों से चार चाँद लगा देता है।

दो बूँद – कलाकार राजीव रंजन ( चीनी मिट्टी )

प्रकृति के रूप में पानी कलाकारों की कल्पना को आधार देता है और…

View original post 799 more words

Music is THE BEST

Information is not knowledge.
Knowledge is not wisdom.
Wisdom is not truth.
Truth is not beauty.
Beauty is not love.
Love is not music.
“Music is THE BEST.” 

Frank Vincent Zappa

 (December 21, 1940 – December 4, 1993)

 An  American composer,

singer-songwriter,

electric guitarist,

recording engineer,

record producer

and

film director. 

Love all.

(c) ram H singhal

Compiled for :Saturday Music Blog

Flow of Silence

Enlightenment 360° Quotes : 14

Enlightenment 360° is …..  to notice

something Amazing

without

any Special Efforts.

Love all .

Photo and Text (c ) ram H singhal

for

Creative Enlightenment

Friday Wisdom Blog

Story of pure Mirrors

Body of earth,

don’t talk of earth

Tell the story of pure mirrors ,

The Creator has given you this splendor,

Why talk of anything else?

 Mevlana Jelaluddin Rumi

(1207 – 1273) 

Afghanistan & Turkey 

English version by Andrew Harvey
Original Language Persian/Farsi

Love all.

Compiled by : ram H singhal

Tree of Happiness

Wednesday Sufi Blog